Tap to Read ➤

लाल किला को कितना जानते हैं आप, देखिए

आइए जानते हैं दिल्ली में स्थित लाल किले से जुड़ी कुछ खास बातें
chailsy raghuvanshi
1648 में मुगल सम्राट शाहजहां द्वारा बनाया गया लाल किला- लाल नहीं बल्कि सफेद रंग के पत्थरों से बनाया गया  था।
लाल किले के असली नाम क्या है?
लाल किले को मूल रूप से "किला-ए-मुबारक" के नाम से जाना जाता था। जिसका निर्माण शाहजहां ने उस समय करवाया था जब उसने अपनी राजधानी को आगरा से दिल्ली स्थानांतरित करने का निर्णय लिया था।
उस्ताद हामिद और उस्ताद अहमद द्वारा 10 साल में इसका आर्किटेक्ट तैयार किसा गया था।
शाहजहां का शाही सिंहास लाल किले के दीवानी-ए-खास में स्थित था जिसमें की वेशकिमती पत्थर कोहिनूर हीरा भी जड़ा था। जिसे वर्षों बाद नादिर शाह ('फारसी नेपोलियन') द्वारा लूट लिया गया था।
कोहिनूर हीरा
लाल किला अपनी लुभावनी वास्तुकला के लिए प्रसिद्ध है। किले में सबसे उल्लेखनीय महलों में से एक रंग महल है। जिसका शाब्दिक अर्थ है "रंगों का महल"।
लाल किले के दो मुख्य द्वारों में दिल्ली गेट और लाहौर गेट शामिल हैं। जिसमें की लाहौर की ओर खुलने वाले गेट का नाम लाहौर गेट पड़ा।
लाल किले के गेट
256 एकड़ में फैला राजसी लाल किला अष्टकोणीय आकार में बनाया गया है। ऊपर से देखने पर इस किले की भव्यता अष्टकोणीय आकार को प्रकट करती है।
10
9
8
7
6
5
4
3
2
1
0
पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें