भारत में रामसर स्थलों की सूची 2022: सरकारी प्रतियोगी परिक्षाओं में पूछे जाते हैं ये प्रश्न

संसद में रामसर स्थलों की वर्तमान संख्या और स्थिति के बारे में पूछे जाने पर, नवंबर 2021 में पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा डेटा प्रदान किया गया था। उस समय भारत में कुल 46 रामसर साइटें थीं जो कि अब 2022 में 49 साइटों तक बढ़ गई हैं। 2 फरवरी, 2022 को, गुजरात में खिजड़िया वन्यजीव अभयारण्य और उत्तर प्रदेश में बखिरा वन्यजीव अभयारण्य के नाम से दो नवीनतम रामसर स्थलों को सूची में जोड़ा गया। इसके अलावा, कर्नाटक राज्य सरकार द्वारा पल्लिकरनई मार्शलैंड को 'रामसर साइट' घोषित करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

 

रामसर साइट क्या है?

रामसर स्थल वह आर्द्रभूमि या नम भूमि हैं, जिन्हें रामसर कन्वेंशन के तहत "अंतर्राष्ट्रीय महत्व" दिया जाता है। विश्व भर में आर्द्र भूमि और जलवायु परिवर्तन के महत्व को समझते हुए यूनेस्को द्वारा 2 फरवरी 1971 में विश्व की आर्द्रभूमि के संरक्षण के लिए एक संधि पर हस्ताक्षर किए गए थे जो कि सन् 1975 में लागू हुआ था।

भारत में रामसर स्थलों की सूची 2022: सरकारी प्रतियोगी परिक्षाओं में पूछे जाते हैं ये प्रश्न

आर्द्रभूमि का मतलब क्या होता है?

आर्द्रभूमि (वेटलैंड) ऐसा भूभाग होता है जहां के पारितंत्र का बड़ा हिस्सा स्थाई रूप से या प्रतिवर्ष किसी मौसम में जल से संतृप्त (सचुरेटेड) हो या उसमें डूबा रहे। ऐसे क्षेत्रों में जलीय पौधों का बाहुल्य रहता है और यही आर्द्रभूमियों को परिभाषित करता है।

 

रामसर शब्द की उत्पत्ति कैसे हुई?

रामसर एक नगर का नाम है जो कैस्पियन सागर के तट पर और ईरान देश में स्थित है।

भारत ने रामसर कन्वेंशन को कब अपनाया?

1 फरवरी, 1982 में भारत ने रामसर कन्वेंशन पर हस्ताक्षर कर इसको अपनाया।

रामसर साइटों के वैश्विक परिदृश्य

रामसर सम्मेलन का उद्देश्य आर्द्रभूमियों को संरक्षित करना और उनके प्राकृतिक संसाधनों के सतत उपयोग को बढ़ावा देना था। दुनिया भर में लगभग 2,400 रामसर साइटें हैं और कोबोर्ग प्रायद्वीप, ऑस्ट्रेलिया को पहली रामसर साइट के रूप में जाना जाता है, जिसे 1974 में पहचाना गया था। रामसर साइटों की सबसे अधिक संख्या वाला देश यूनाइटेड किंगडम है जिसमें 175 साइटें हैं और उसके बाद मेक्सिको में 142 रामसर साइटें हैं।

विश्व स्तर पर, आर्द्रभूमि दुनिया के भौगोलिक क्षेत्र का 6.4% कवर करती है। कन्वेंशन संरक्षण के तहत बोलीविया का क्षेत्रफल 148,000 वर्ग किमी के साथ सबसे बड़ा है। कनाडा, चाड, कांगो और रूसी संघ ने भी प्रत्येक को 100,000 वर्ग किमी से अधिक नामित किया है।

भारतीय में कितनी रामसर साइट है?

भारत में रामसर स्थलों का दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा नेटवर्क है, जिसमें 18 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों में 10,936 वर्ग किमी में फैली कुल 49 रामसाइट है।
उत्तर प्रदेश में रामसर स्थलों की सबसे बड़ी संख्या 10 है, जबकि पंजाब में 6, गुजरात और जम्मू-कश्मीर में 4-4, हिमाचल प्रदेश और केरल में 3-3, हरियाणा, महाराष्ट्र, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, राजस्थान में 2-2 और आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, लद्दाख, मणिपुर, तमिलनाडु, त्रिपुरा, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश में 1 है।

भारत में कुल कितने वेटलैंड है?

भारत में 19 प्रकार की आर्द्रभूमि यानि की वेटलैंड है।

भारत का सबसे बड़ा रामसर स्थल कौन सा है?

सुंदरवन भारत में सबसे बड़े रामसर स्थल के रूप में जाना जाता है जो कि 10,000 वर्ग किमी क्षेत्रफल में फैला हुआ है।

भारत का सबसे छोटा रामसर स्थल कौन सा है?

हिमाचल प्रदेश में स्थित रेणुका वेटलैंड भारत का सबसे छोटा रामसर स्थल है जो कि 20 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला हुआ है।

भारत की सबसे पहली रामसर साइट कौन सी है?

चिल्का झील, उड़ीसा और केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान, राजस्थान भारत की पहली आर्द्रभूमि हैं जिन्हें रामसर कन्वेंशन के तहत 1 अक्टूबर, 1981 को भारत में पहली रामसर साइट के रूप में मान्यता दी गई थी।

विश्व आर्द्रभूमि (वेटलैंड्स) दिवस कब मनाया जाता है?

प्रत्येक वर्ष 2 फरवरी को विश्व वेटलैंड्स दिवस मनाया जाता है।

भारत में रामसर स्थलों की सूची 2022

1. चिल्का झील, ओडिशा, 1981
2. केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान, राजस्थान, 1981
3. लोकटक झील, मणिपुर, 1990
4. वुलर झील, जम्मू-कश्मीर, 1990
5. हरिके झील, पंजाब, 1990
6. सांभर झील, राजस्थान, 1990
7. कंजली झील, पंजाब, 2002
8. रोपड़ वेटलैंड, पंजाब, 2002
9. कोलेरु झील, आंध्र प्रदेश, 2002
10. दीपोर बील, असम, 2002
11. पोंग बांध झील, हिमाचल प्रदेश, 2002
12. त्सो मोरीरी झील, लद्दाख, 2002
13. अष्टमुडी झील, केरल, 2002
14. सस्थमकोट्टा झील, केरल, 2002
15. वेम्बनाड-कोल आर्द्रभूमि, केरल, 2002
16. भोज वेटलैंड, मध्य प्रदेश, 2002
17. भितरकनिका मैंग्रोव, ओडिशा, 2002
18. प्वाइंट कैलिमेरे वन्यजीव और पक्षी अभयारण्य, तमिलनाडु, 2002
19. पूर्व कोलकाता आर्द्रभूमि, पश्चिम बंगाल, 2002
20. चंदेरटल वेटलैंड, हिमाचल प्रदेश, 2005
21. रेणुका वेटलैंड, हिमाचल प्रदेश, 2005
22. होकेरा वेटलैंड / होकेर्सर वेटलैंड, जम्मू और कश्मीर, 2005
23. सुरिंसर और मानसर झील, जम्मू और कश्मीर, 2005
24. रुद्रसागर झील, त्रिपुरा, 2005
25. ऊपरी गंगा नदी (ब्रजघाट से नरौरा खिंचाव), उत्तर प्रदेश, 2005
26. नालसरोवर पक्षी अभयारण्य, गुजरात, 2012
27. सुंदरवन डेल्टा क्षेत्र, पश्चिम बंगाल, 2019
28. नंदुर मध्यमेश्वर, महाराष्ट्र, 2019
29. नवाबगंज पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश, 2019
30. केशोपुर मिआनी कम्युनिटी रिजर्व, पंजाब, 2019
31. व्यास संरक्षण रिजर्व, पंजाब, 2019
32. नांगल वन्यजीव अभयारण्य, पंजाब, 2019
33. साण्डी पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश, 2019
34. समसपुर पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश, 2019
35. समन पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश, 2019
36. पार्वती अरगा पक्षी अभयारण्य, उत्तर प्रदेश, 2019
37. सरसई नावर झील, उत्तर प्रदेश, 2019
38. आसन कंजर्वेशन रिजर्व, उत्तराखंड, 2020
39. काबर ताल, बिहार, 2020
40. लोनार झील, महाराष्ट्र, 2020
41. सुर सरोवर झील / कीथम झील, उत्तर प्रदेश, 2020
42. त्सो कर आर्द्रभूमि क्षेत्र, लद्दाख, 2020
43. सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यान, हरियाणा, 2021
44. भिड़ावास वन्यजीव अभ्यारण्य, हरियाणा, 2021
45. थोल झील वन्यजीव अभ्यारण्य, गुजरात, 2021
46. वाधवाना आर्द्रभूमि क्षेत्र, गुजरात, 2021
47. हैदरपुर वेटलैंड, उत्तर प्रदेश, 2021
48. खिजड़िया पक्षी अभयारण्य, गुजरात, 2022
49. बखिरा वन्यजीव अभयारण्य, उत्तर प्रदेश, 2022

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
List of Ramsar Sites 2022 in Hindi: Ramsar sites are those wetlands that are given "International Importance" under the Ramsar Convention. Recognizing the importance of wetlands and climate change around the world, a treaty for the protection of the world's wetlands was signed by UNESCO on 2 February 1971, which came into force in 1975.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X