भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची

हम आपको भारत के सभी राष्ट्रिय प्रतीकों के बारे में बताने जा रहे हैं। साथ ही उनसे जुड़ी कुछ संक्षिप्त जानकारी भी आपको देंगे। भारत की कई प्रतियोगी परीक्षाओं में भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों के बारे में प्रश्न आते हैं। ऐसे में ये जानकारी आपके लिए सहायक साबित हो सकती है। बहुत से ऐसे छात्र भी है जिन्हें राष्ट्रिय प्रतीकों के बारे में कुछ खास जानकारी नहीं है उनके लिए भी ये मददगार है।

 

आधिकारिक नाम- भारत गणराज्य

भारत के नाम को लेकर दो धारणाएं हैं। इसके अंग्रजी नाम और हिन्दी नाम दोनों के पीछे एक अलग कहानी है। भारत गणराज्य- महाभारत की कहानी के अनुसार 'भारत' का नाम राजा दुष्यंत और शकुंतला के पुत्र 'भरत' के नाम पर रखा गया।
रिपब्लिक ऑफ इंडिया- सिंधु घाटी को इंडस वैली के नाम से भी जाना जता है। इसी कारण से भारत का अंग्रजी नाम इंडिया पड़ा।


राष्ट्रीय झंड़ा- तिरंगा

भारतीय तिरंगे में तीन रंग हैं और यह तीनों रंग तीन अलग प्रतीको का प्रतिनिधित्व करते है। तिरंगे में केसरिया रंग साहस का प्रतीक है, सफेद रंग शांति, ईमानदारी और पवित्रता का प्रतीक है और हरा रंग विश्वास और शिष्टता का प्रतीक है। इसके बीच में गहरे नीले रंग का अशोक चक्रा है जिसमें 24 स्पोक्स है। इस झंडे को पिंगली वेंकय्या द्वारा डिजाइन किया गया था, जो कि स्वराज ध्वज पर आधारित है।

 
भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची

राष्ट्रीय प्रतीक, राष्ट्रीय आदर्श वाक्य- अशोक की शेर राजधानी (आशोक स्तंभ), सत्येमेव जयते

जिस दिन भारत गणतंत्र बना यानि 26 जनवरी 1950। सारनाथ में स्थित आशोक स्तंभ को भारत के राष्ट्रीय प्रतीक के तौर पर अपनाया गाया. इसके नीचें देवनागरी लिपि में खुदा हुआ 'सत्यमेव जयते' मुंडक उपनिषद से लिया गया जो पवित्र हिन्दू वेदों का भाग है।


राष्ट्रगान- जन गन मन

भारत का राष्ट्रगान रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा लिखा गया था। मूल रूप से यह बंगाली भाषा मे 'भरतो भाग्य बिधाता' के रूप में रचित है। लेकिन 24 जनवरी 1950 में भारत की संविधान सभा नें इसे राष्ट्रगान के रूप में अपनाने का फैसला लिया।


राष्ट्रीय गीत- वन्दे मातरम

भारत का राष्ट्रीय गीत बंकिम चंद्र चटर्जी द्वारा लिखा गया। रवींद्रनाथ टैगोर ने इस कविता को पहली बार 1896 के राष्ट्रीय कांग्रेस के अधिवेशन में गाया था। 24 जनवरी 1950 में भारत की संविधान सभा नें वन्दे मातरम को राष्ट्रीय गीत के रूप में अपनाया.

राष्ट्रीय दिन- स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त 1947)
गणतंत्र दिवस (26 जनवरी 1950)
गांधी जयंती (2 अक्टूबर)


निष्ठा की शपथ- राष्ट्रीय प्रतिज्ञा

राष्ट्रीय प्रतिज्ञा को 1962 में पाईदिमार्री वंकेट सुब्बा राव द्वारा तेलुगु भाषा में लिखा गया था। केंद्रीय सलाहकार बोर्ड के निर्देशानुसार 26 जनवरी 1965 से इसे भारत के सार्वजनिक कार्यक्रमों में, मुख्य रूप से स्कूलों में और साथ ही स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के समारोह में सुनाया जाना शुरु किया गया।


राष्ट्रीय मुद्रा- भारतीय रुपया

रुपया भारत की आधिकारीक मुद्रा है। इसको जारी करने का पूरा कार्यभार रीजर्व बैंक ऑफ इंडिया का है। इसका डिजाइन उदय कुमार द्वारा किया गया है और इसका डिजाइन भारतीय तिरंगे पर आधारित है।


राष्ट्रीय पंचांग- भारतीय राष्ट्रीय पंचांग

भारतीय राष्ट्रीय पंचांग को कभी-कभी शालिवाहन शाक पंचांग भी कहा जाता है। इसका इस्तेमाल ग्रेगोरियन पंचांग के साथ भी किया जाता है।


राष्ट्रीय कॉकेड - भारतीय राष्ट्रीय कॉकेड

भारतीय राष्ट्रीय कॉकेड तिरंगे के तीन विशिष्टि रंगों को शामिल करके बनाया गया है। इसका आकार या तो गोल होता है या फिर अंडाकार। आमतौर पर इसे टोपी पर पहना जाता है।


राष्ट्रीय पशु- बाघ (रॉयल बंगाल टाइगर)

'रॉयल बंगाल टाइगर' भारत का राष्ट्रीय जानवर है। बाघ अप्रैल 1973 से भारत का राष्ट्रीय जानवर माना जाता है। नागपुर को भारत की बाघ राजधानी के रूप में जाना जाता है। अवैध शिकार और बाघों की आबादि में गिरावट को देखता हुए भारतीय सरकार नें 1973 में बाघों के संरक्षण से लिए 'प्रोजेक्ट टाइगर' शुरु किया था।


राष्ट्रीय विरासत पशु- हाथी

हाथियों को भारत की राष्ट्रीय विरासत 22 अक्टूबर 2010 में घोशित किया गया। यह घोषणा लगभग 29,000 हाथियों के सुरक्षात्मक उपायों को बढ़ाने के लिए भारत के पर्यावरण मंत्रालय द्वारा की गई।


राष्ट्रीय जलीय पशु- गंगा नदी की डॉल्फिन

गंगा नदी की डॉल्फिन को भारतीय सरकार द्वारा राष्ट्रीय जलीय पशु की पहचान दी गई। यह भारताय उपमहाद्वीप में पाई जाने वाली लुप्तप्राय मीठे पानी की डॉल्फिन है। जिसे दो उपप्रजातियों में विभाजित किया गया है। एक तो गंगा नदी डॉल्फिन और दुसरी इंडस नदी डॉल्फिन. गंगा नदी डॉल्फिन केवल भारत, बांग्लादेश और नेपाल में गंगा और ब्रह्मपुत्र नदियों में पाई जाती है।


राष्ट्रीय पक्षी- मोर

भारत सरकार ने 1 फरवरी 1963 में मोर को भारत का राष्ट्रीय पक्षी घोषित करने का फैसला लिया. मोर के रंग एकता का प्रतिनिधित्व करते हैं।


राष्ट्रीय सांप- किंग कोबरा

किंग कोबरा भारत का राष्ट्रीय सांप है। जो मुख्य रूप से भारत और दक्षिण एशिया के जंगलों में पाया जाता है। किंग कोबरा को दुनिया का सबसे बड़ा और जहरीला सांप माना जाता है। इसकी जीवन आयु 25 वर्ष तक है और यह 19 फीट तक बढ़ने में सक्षम है।


राष्ट्रीय फूल- कमल

कमल भारत का राष्ट्रीय फूल है। भारत की प्राचीन कला और भारतीय पुराणों में कमल की खास जगह रही है। इसी वजह से इसे भारतीय संस्कृती में शुभ प्रतीक के रूप में माना जाता है।


राष्ट्रीय वृक्ष- बरगद

भारत का राष्ट्रीय वृक्ष बरगद है। बरगद का पेड़ उगने के लिए खुद को जड़े देता है, इसके बीज बड़ी जल्दी और असानी से उग जाते हैं। इस पेड़ की लंबी उम्र की वजह से इसे अमर माना जाता है।


राष्ट्रीय फल- आम

भारत का राष्ट्रीय फल आम है। भारत में 100 से ज्यादा किस्में के आम पाए जाते हैं। आम को फलों का राजा भी माना जाता है।


राष्ट्रीय नदी- गंगा

भारत में वैसे तो कई नदियां हैं, लेकिन गंगा भारत की राष्ट्रीय नदी है। गंगा के आस-पास रह रहें लोगों की जीवन रेखा है। हिन्दु धर्म में गंगा को बहुत पवित्र माना जाता है और भारत में गंगा को देवी के रूप में पूजा जाता है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Read all about the national symbols of India in Hindi. Here is the list of all national symbols of India with names.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X